Manch Sanchalan, Shayari, Lyrics, Bhashan.

शनिवार, 27 फ़रवरी 2021

Tulsi Side Effects And Benifits | तुलसी के फायदे और नुकसान और लेने का सही तरीका

 Tulsi Side Effects And Benifits

तुलसी भारत में आद्यात्मिक दृष्टि से और आयुर्वेद की दृष्टि से, हमेशा से पवित्र और महत्त्वपूर्ण मानी गई है, तुलसी स्वास्थ्यवर्धक लाभों के लिए जानी जाती है, तुलसी का धार्मिक दृष्टिकोण से भी महत्तव है, साथ ही उपचार में भी इसका उपयोग किया जाता है.

तुलसी खांसी, सर्दी जुकाम, आँख, लीवर, और चेहरे के लिए बहुत ही उपयोगी मानी जाती है.

वैसे तो तुलसी का हर हिस्सा लाभकारी होता है लेकिन, पत्तियों का उपयोग जयादातर किया जाता है, तुलसी का सेवन कई तरीको से किया जा सकता है.

tulsi side effect and benifits


आप तुलसी के पत्तो को चाय में उबालकर भी पी सकते है, या चबाकर भी खा सकते है, अगर आप तुलसी की पत्तियों को धुप में सुखा ले तो, इसका उपयोग कई दिनों तक किया जा सकता है.

रोजाना तुलसी का सेवन करने से आप चिंता और तनाव से भी दूर रह सकते है, क्योकि तुलसी की पत्तियों में एंटीडिप्रेसन व् एंटीएन्ग्जायती की क्षमता होती है, जो आयुर्वेद की दृष्टि से इस समस्या में आपको फायदेमंद हो सकती है.

खांसी में तुलसी के फायदे और उपयोग

एक लवंग के साथ आठ दस तुलसी के पत्ते पानी में उबाल ले और फिर ठंडा होने के बाद, इसे पि लेने से खांसी में राहत मिलती है, साथ ही इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता क्योकि ये आयुर्वेदीय औसधि है.

तुलसी आँखों के लिए

तुसली में विटामिन ए ज्यादा मात्र में होता है, इसमें एंटीओक्सीडेंट के गुण होने के कारण ये आँखों के लिए फायदेमंद होती है, विटामिन ए स्वस्थ आँखों के लिए बहुत ही आवश्यक है, तुलसी का ताजा रस आँखों के लिए उत्तम माना गया है, आँखों में प्रतिदिन रात को सोने से पहले, तुलसी रस की एक दो बूंदे डालने से, आँखों की कई परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है.

 तुलसी चेहरे के लिए

अगर आपके चेहरे पे ज्यादा मुहांसे होते है तो, आप तुलसी का उपयोग कर सकते है, तुसली और चन्दन या हल्दी का पेस्ट बना के चेहरे पे लगाने से, मुहांसों से छुटकारा मिल सकता है,तुलसी बेक्टीरिया को हटाता है, और तवचा के छिद्रों को खोल देता है, जिससे मुहांसे जल्द ही ठीक हो सकते है.

तुलसी से कैंसर में लाभ

तुलसी में फाईटोकेमिकल्स,होते है, जो तवचा केंसर या लीवर के कैंसर को रोकने में मदद करती है, एंटीओक्सीडेंट की गतिविधि को तुलसी बढाती है, जिससे कैंसर के किसी भी ट्युमर को फेलने से रोकने में मदद करती है

तुलसी पेट के लिए लाभकारी

पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए तुलसी सर्वोत्तम है, तुलसी का रस पेट दर्द में भी गुणकारी सिद्ध होता है, अदरक और तुलसी के रस की एक चम्मच समान मिलाकर, पिने से पेट के रोगों से निजात मिल सकती है.

तुलसी के नुकसान क्या क्या है

तुलसी को कभी उन दवाओं के साथ नही लेना चाहिए जो खून को जमने से रोकती है, क्योकि तुलसी भी खून को पतला करती है, इसलिए दोनों एक साथ लेने से नुकसान हो सकता है.

तुलसी गर्भावस्था के दौरान भी नहीं लेनी चाहिए, क्योकि तुलसी मासिक धर्म का कारण बन सकती है, इसलिए बिना दोक्टरी सलाह के नहीं लेनी चाहिए

तुलसी की तासीर गरम होती है, इसलिए इसका सेवन हमेशा सर्दियों करना ही अधिक गुणकारी होता है, गर्मियों के मौसम में तुलसी खाने से आपको परेशानी हो सकती है

तुलसी खाने का सही समय क्या है

वैसे तो आप तुलसी का सेवन कभी भी कर सकते है लेकिन आयुर्वेद की दृष्टि से तुलसी का सेवन सुबह खाली पेट करना चाहिए, तो ये ज्यादा फायदा करती है.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Please Do Not Enter Any Spam Link