Manch Sanchalan, Shayari, Lyrics, Bhashan.

मंगलवार, 23 फ़रवरी 2021

शुभ दीपावली शायरी Happy Diwali Shayari दिवाली शायरी इन हिंदी

 आप सभी को मेरी तरफ से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए और बधाई, आप सभी को ये दिवाली खूब धन दौलत और सुख समृद्धि दे, यही प्रभु से कामना है, आप सभी का जीवन सुखमय और आनंदित हो कोई कष्ट आपके आस पास न आए, दोस्तों दिवाली के इस सुअवसर पर मैं आपके लिए लेकर आया हूँ कुछ शायरिया जो आप अपने दोस्तों और चाहने वालो को भेज कर उन्हें बधाई दे सकते है.


    हैप्पी दिवाली शायरी कविता

    दीप जले है नगर नगर

    फैला प्रकाश डगर डगर

    रात अँधेरी चमक रही है

    छाई खुशियाँ हर नजर
     

    खिलखिलाती बच्चो की हंसी

    रंगोली है हर द्वार सजी

    लगता है अम्बर के तारे

    आए धरा पे कर सिंगार 


    गली गली में उजाला आज

    झोपड़ी भी लगती है ताज

    पर्वो का राजा है दिवाली

    नए साल का है त्यौहार
    इसके साथ ही आप धन तेरस की भी बधाई एवं शुभकामना दे सकते है

    धन तेरस की शुभकामनाए

    धन की वर्षा होती रहेगीमाँ की कृपा बनी रहेगी

    यही हमारी है शुभकामनालक्ष्मी घर में बसी रहेगी

    धन तेरस है धन का दिनधन की न कमी रहेगी

    दिन आज का है मुबारकजीवन में खुशहाली रहेगी



    आपके घर लक्ष्मी आएसंग में सरस्वती को लाए

    गजानन का करो स्वागतरिद्धि सिद्धि बुद्धि लाए

    दरिद्रता अब दूर होगीधन की ही बस बात होगी

    रहे चमकता नसीब हमेशाकिस्मत भी अब साथ लाए

    आई दिवाली दो बधाई


    आई दिवाली दो बधाईदीप जले है लो बधाई

    पर्व है ये अपनेपन कादिल से दिल की है मिलाई

    पटाखों फुल्झादियों कादिन है ख़ुशी की लडियो का

    मिल के करो उजाला औरएक दूजे को बांटो मिठाई
     


    गली गली में उजाला हैहर चेहरा मुस्काता है

    सदियों की है परंपरा येएक दूजे से नाता है

    नए नवेले कपडे पहनेबच्चे खेले बना के टोली

    छोड़ रहे पटाखे मस्ती मेंमन हर्षाता गाता है


    हैप्पी दिवाली तुम्हे मुबारक

    गौरव का दिन हो तुम्हे मुबारक

    संकट कट जाए खुशियाँ आए

    हो ये कामना तुम्हे मुबारक

    आसमान के तारो सेज्यादा धरती पे उजाला है


    आसमान के तारो सेज्यादा धरती पे उजाला है

    रात में जैसे दिन निकलामिटा अँधेरा काला है

    मन में भी तुम करो उजालाप्रेम भाव को बसालो

    सबको बधाई देते जाओनया साल आने वाला है 


    जिस घर दिखे अँधेराजाकर वहां दीप जलाओ

    सच्ची दिवाली कहते इसीकोअपना तुम हाथ बढाओ

    आंसू पोंछ मुस्काने दोरोते को सीखो हँसाना

    उंच नीच का भेद मिटासबको तुम अपना बनाओ 


    सबको दिवाली हो मुबारकखुशियों वाले दिन आए

    काल कोरोना ख़त्म होसंकट सबके ही टल जाए

    मनाओ दिवाली दिल सेमन के द्वार खोल दो

    हैप्पी दिवाली दिल से कहोखुशिया सबको मिल जाए

    -------

    मन भाए वो दिन आया है


    मन भाए वो दिन आया हैखुशियों का बादल छाया है

    झूम के बरसे मन की तमन्नाउम्मीदों ने गीत गाया है

    कहीं जगमग दीप जले हैकहीं रोशन ये गलियां है

    छोटे बड़े बूढ़े बच्चो केचेहरे पे नया नूर आया है 


    भूल गए वो गम के दिनकोरोना की काली यादें

    अब तो होती उम्मीदों कीदिन भर अच्छी वाली बाते

    छलक रही है खुशिया देखोजैसे राम राज्य है आया

    मुरझा रहे थे जो भी रिश्तेखिल उठे है अब वो नाते 


    हाल चाल सब पुछ रहेस्वागत करते हाथ हिला

    नजरे तो मिल जाती है परदिल भी तो दिल से मिला

    भारत भूमि लगती अम्बरखुशियों वाला कोई समंदर

    पार ले जाओ नैया सबकीएक दूजे का साथ मिला

    ----

    दीपो की नगरी में आओआज तुम्हारा स्वागत है


    दीपो की नगरी में आओआज तुम्हारा स्वागत है

    जो भी चाहे दे दो बधाईसबको आज इजाजत है

    घर पे हमारे आई मिठाईबच्चो के मन हरखाए है

    सब अपने है गैर नहीं हैदिल की यही चाहत है 


    रंग बिरंगी है रंगोलीहर घर के द्वार सजाती

    मीठे गीत खुशियों वालेहर मन की धड़कन गाती

    नन्हे मुन्ने इठला रहे हैदौड़ दौड़ के हर्षा रहे है

    बड़े भी तो खुश आज हैसबकी सुरत हाल बताती 


    आओ बांटे गम और खुशियाँखाओ चकली और गुजिया

    जो मेरा वो तेरा भी हैख़याल मन में है सबसे बढ़िया

    सब को मुबारक ये दिवालीसबको खुशिया देती जाए

    बहना भाभी मामा मामीमिलते सब है दोस्त सखिया

    कोई टिप्पणी नहीं:

    एक टिप्पणी भेजें

    Please Do Not Enter Any Spam Link